Home Moral Stories In Hindi भेड़िया और गधा की कहानी: Wolf And Donkey Story In Hindi

भेड़िया और गधा की कहानी: Wolf And Donkey Story In Hindi

0
भेड़िया और गधा की कहानी: Wolf And Donkey Story In Hindi

इस लेख में हमने आपको भेड़िया और गधा की कहानी, (Wolf And Donkey Story In Hindi) हिंदी में लिखा है नैतिक भाव के साथ, चलिए कहानी को पढ़ने का आनंद उठाएं और आखिर में नैतिक भाव के साथ कहानी का कांत करें, हमें आशा है कि आपको हमारी कहानियां मूल रूप से पसंद आती होंगी।

कहानी का नामभेड़िया और गधा की कहानी: Wolf And Donkey Story In Hindi
कहानी के पात्रभेड़िया, गधा

कहानी के पात्र: Story characters

नामभेड़िया
रंगभूरा
आयु7 साल
नामगधा
रंगभूरा
आयु10 साल

भेड़िया और गधा की कहानी: Wolf And Donkey Story In Hindi

क बार एक गधा घास के मैदान में घास चर रहा था| तभी उसने एक भेड़िए को अपनी तरफ आते हुए देखा| गधे ने तुरंत ही लंगड़ा होने का नाटक किया| भेड़िए ने गधे से उसके लंगड़ेपन का कारण पूछा| गधे ने बताया कि वह एक झाड़ी से होकर गुजर रहा था तो उसके पैर में एक

कांटा चुभ गया| अब गधे ने भेड़िए से कांटा निकालने का अनुरोध किया| उसे खा जाने वाले भेड़िए ने गधे के अनुरोध को स्वीकार कर लिया| क्योंकि उसे लगा कि गधा तो अब कहीं भाग कर नहीं जा सकता है| गधे ने अपनी टांग उठाई और भेड़िया सावधानीपूर्वक झुककर कांटे को

इसे भी पढ़ेंचालाक लोमड़ी और बंदर की कहानी: Clever Fox And Monkey Story In Hindi

देखने लगा| लेकिन तभी गधे ने भेड़िए के मुंह पर दुलत्ती मारी और कहा:-‘ तुम कसाई हो, कोई डॉक्टर नहीं!’ भेड़िया दुलत्ती की चोट खाकर धूल चाटने लगा और गधे ने सरपट दौड़ लगाकर अपनी जान बचाई| सीख:- मुसीबत के समय अपनी बुद्धि से काम लेना चाहिए|

कहानी से शिक्षा Moral of the Story

  • इतनी आसानी से किसी पर भरोसा मत करो
  • एक अच्छा नेता बनने के लिए आपके पास सभी गुण होने चाहिए

इसे भी देखhttps://www.youtube.com/watch?v=NkSPiLnwHV8

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version