चालाक लोमड़ी और बंदर की कहानी: Clever Fox And Monkey Story In Hindi

3
366
चालाक लोमड़ी और बंदर की कहानी: Clever Fox And Monkey Story In Hindi
चालाक लोमड़ी और बंदर की कहानी: Clever Fox And Monkey Story In Hindi

इस लेख में हमने आपको चालाक लोमड़ी और बंदर की कहानी, (Clever Fox And Monkey Story In Hindi) हिंदी में लिखा है नैतिक भाव के साथ, चलिए कहानी को पढ़ने का आनंद उठाएं और आखिर में नैतिक भाव के साथ कहानी का कांत करें, हमें आशा है कि आपको हमारी कहानियां मूल रूप से पसंद आती होंगी।

कहानी का नामचालाक लोमड़ी और बंदर [Clever Fox And Monkey Story In Hindi]
कहानी के पात्रबंदर, लोमड़ी

कहानी के पात्र: Story characters

चालाक लोमड़ी cleaver fox
Bandar: बंदर
नामबंदर
रंग:भूरा
उमर5 साल
चालाक लोमड़ी cleaver fox
चालाक लोमड़ी cleaver fox
नामलोमड़ी
रंगलाल
उमर9 साल

चालाक लोमड़ी और बंदर की कहानी: Clever Fox And Monkey Story In Hindi

एक बार जंगल के सभी जानवरों ने मिल कर एक पार्टी का आयोजन किया। सभी जानवरों ने बड़े उत्साह के साथ उसमें भाग लिया। उनमें से बंदर सबसे ज्यादा उत्साहित था।

उसने खुब नृत्य किया और सभी जनवरों का बहुत मनोरंजन किया। खुश होकर सभी जानवरों ने मिलकर उसे अपना राजा बना लिया। परंतु लोमड़ी को बंदर का राजा बनना पसंद नहीं आया वह इस बात से बहुत निराशा हुई। एक दिन लोमड़ी को एक जाल मिला, जिसमें माँस का एक टुकड़ा फँसा हुआ था। उसे एक उपाय सूझा। उसने बंदर को खाने पर बुलाया और कहा-बंदर महाराज, देखिए!

इसे भी पढ़ेंधैर्य का लाभ की कहानी: Benefit of patience Moral Story In Hindi

मैंने आप के लिए मांस रखा हुआ है। बंदर बिना सोचे-समझे, मांस को पकड़ने गया और जाल में फँस गया। जब बंदर ने लोमड़ी को इस हरकत के लिये डांटा, तो लोमड़ी ने उसका मज़ाक उड़ाते हुए कहा-तुम राजा बनने लायक ही नहीं हो क्योंकि तुममें खतरे को भाँपने की समझ नहीं है। यह सुनकर बंदर बहुत शर्मिंदा हुआ और उसे अपनी गलती का एहसास हो गया। [चालाक लोमड़ी और बंदर की कहानी]

कहानी से शिक्षा Moral of the Story

  • एक अच्छा नेता बनने के लिए आपके पास सभी गुण होने चाहिए ।
  • इतनी आसानी से कभी भी भरोसा नहीं करना चाहिए।
  • दूसरे के लिए बुरा मत करो ।

इसे भी पढ़ेंhttps://www.youtube.com/watch?v=NhmwXPj_8ww

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here